इस छात्र ने पहले IIT फिर CAT 100 प्रतिशत नंबर लाकर बनाया रिकॉर्ड, पूरा देश दे रहा सम्मान

कहा जाता है कि भगवान ने सबको समान मात्रा में दिमाग दिया है अब निर्भर इस बात पर करता है कि वो कितना अलनी दिमाग को घिसकर यूज़ करते हैं और महारथ हासिल करते हैं. जबकि कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो फेल होने का इंतजार कर रहे होते हैं क्योंकि उन्हें पता ही नही है कि दिमाग के इस्तेमाल का सही वक्त कब और कहां होता है. वहीं हमारी समाज टैलेंट का परिभाषा नही जानती क्योंकि जब भी उनके पास टैलेंट की बात करो तो शारीरिक प्रक्रिया से जोड़ते हैं जैसे खेलना, डांस यही सब. उनके नजर में पढ़ाई की कोई अहमियत नही होती क्योंकि उन्हें लगता है कि पढ़ाई हर कोई कर सकता है और जरा सी मेहनत कर कोई भी टॉप कर सकता है और यह अवधारणा सबसे गलत है.

जिस तरह का कम्पटीशन का माहौल आजकल के परीक्षाओं में देखा जाता है. किसी अच्छे एग्जाम में शत प्रतिशत मार्क्स लाकर सबको पीछे छोड़ देने से बड़ा टैलेंट कुछ नही हो सकता. बिना मेहनत के कुछ नही मिलता और जब मेहनत का नतीजा मिलता है तो बड़े शोर के साथ निकलता है. आज हम एक ऐसे ही धुरंधर छात्र के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने देश के हर बड़े एग्जाम में शत प्रतिशत मार्क्स लाकर उनके मुँह पर ताला लगा दिया है जो कहते हैं पढ़ाई हर कोई कर सकता है.

हर एग्जाम में 100% मार्क्स

दरअसल आज हम जिस छात्र के मुखातिब हो रहे हैं उसका नाम प्रनीत रेड्डी है और यह आंधप्रदेश का रहने वाला है. हाल ही में जब CAT एग्जाम हुआ तो उसने 100 फीसदी नंबर प्राप्त किये. इस बड़े अचीवमेंट के बाद प्रनीत को दुनिया मे अलग पहचान मिली है. हैरान कर देने वाली बात यह है कि बीते वर्ष IIT के एग्जाम में भी प्रनीत नाम का यह छात्र अव्वल दर्जे के मार्क्स से पास कर चुका है.

क्या है प्रनीत का लक्ष्य

दूसरे छात्रो की बात की जाय तो ऐसे पेपर्स में क्वालीफाई करना भी अपने-आप मे एक चुनौती होता है लेकिन प्रनीत ने अपने लगन व मेहनत से ये सपना सच कर दिखाया. CAT के एग्जाम में टॉप कर जाने के बाद अब वो ग्रुप डिस्कशन और पर्सनल इंटरव्यू की तैयारी में जुटे हैं. प्रनीत के सपनो की बात करें तो वह चाहता है कि आगामी दोनो राउंड में भी अपना बेहतरीन परफॉरमेंस दे और सबके सामने से उड़न छू होकर शीर्ष पर दिखे. साथ ही प्रनीत ने यह भी बताया है कि उसे IIM अहमदाबाद में दाखिला लेना है. आपको पता होना चाहिए कि प्रनीत जिन पेपर्स में 100 मार्क्स लाया है उन तीनों को मिलाकर 100 मार्क्स लाना भी अन्य छात्रों के लिए लोहे के चने चबाने जितना मुश्किल है लेकिन उसने सभी अवधारणाओं को गलत सिद्ध कर दिया.

बताया अपनी सफलता का राज

खबर से पता चला है कि प्रनीत को वर्बल एबिलिटी और रीडिंग कॉन्प्रिहेंशन में 95.65 फीसदी मार्क्स हासिल हुए वहीं मानसिक योग्यता और डाटा इंटरप्रिटेशन दोनो विषयों में 100 प्रतिशत मार्क्स प्राप्त हुए. कुल रिजल्ट की बात करें तो उसने 100 फीसदी मार्क्स लाकर टॉप किया है. जब उससे इस उपलब्धि का राज पूछा गया तो उसने बड़े ही शांत स्वभाव में कहा कि इसके लिए में रोज 9 से 12 तक सेट प्रैक्टिस और टेस्ट की तैयारियां करता था.

Source

You May Also Like