साइंस के अनुसार इन 10 जगहों पर फोन रखने से होते हैं इतने नुकसान!

आज के नौजवानों से अगर एक सवाल किया जाये कि वो लोग अपनी लाइफ का सबसे ज्यादा वक्त किसके साथ गुजारते हैं?  ऑप्शन होंगे – दोस्त, परिवार, गर्लफ़्रेंड, वाइफ, पार्टी या मोबाइल? हम दावे के साथ कह सकते हैं कि 99 फीसदी लोगो का जवाब होगा “मोबाइल” एक तरह से कहें तो मोबाइल हमारी जिंदगी का एक अभिन्न हिस्सा बन चुका है जिसे शरीर का एक अंग भी कह दे तो इसमें कोई दो राय वाली बात नही होगी क्योंकि हम शरीर के अन्य अंगों की तरह मोबाइल को भी खुद से जुदा नही करते. भले ही स्मार्टफोन ने लोगो के बीच की दुरियो को कम कर दिया है लेकिन अपने सगे लोगो से दूर कर चुका है. ये पारिवारिक तौर पर ही नही बल्कि आपको निजी तौर पर भी नुकसान पहुंचा रहा है. अब आपका मुह खुला रह गया होगा जैसे ये सवाल कर रहा हो कि कैसे यार कैसे? हम स्मार्टफोन से होने वाले ऐसे नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानने के बाद आप भी मोबाइल को अपने पास रखने से कतराएंगे…

सोते समय लापरवाही

कुछ लोग सोते समय फ़ोन को तकिए के नीचे दबा देते हैं जबकि उन्हें शायद पता नही की फ़ोन से निकलने वाले रेडिएशन सरदर्द के साथ बेहोशी का भी कारण बन सकता है. साथ ही जब फोन को तकिए के नीचे दबाकर रखा जाता है तो ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिससे फ़ोन विस्फोट होने की सूचना मिलती है.

अगर ब्रा के अंदर रखती हैं फोन

जो महिलाएं फोन को ब्रा में रखती हैं उन्हें मालूम होना चाहिए कि 70 फीसदी महिलाओ के ब्रेस्ट कैंसर की सबसे बड़ी वजह यही है. इसलिए भूलकर भी फ़ोन को ब्रा के अंदर नही रखें वरना बड़ी मुसीबते खड़ी हो सकती हैं.

बच्चों से रखें दूर

कुछ लोग बच्चों को सुलाने के बाद फ़ोन वहीं छोड़ देते हैं. लेकिन आपको पता होना चाहिए कि इससे निकलने वाली किरणों से बच्चों के अंदर हाइपरएक्टिविटी और डिफिसिट डिसऑर्डर जैसी बड़ी बीमारियों का प्रकोप आ जाता है.

पीछे की पॉकेट में फोन

इस अवस्था का सबसे बड़ा नुकसान तो यह भी है कि फ़ोन कभी भी टूट सकता है. साथ एक शोध से पता चलता है कि इससे पीठ व कम दर्द की समस्या भी हो सकती है.

सामने की पॉकेट में फोन

जो लड़के सामने के जेब मे फ़ोन रखते हैं उन्हें जानकर शॉक लगेगा कि इससे आपके स्पर्म की क्वालिटी बिगड़ रही है. जी हां इस तरह की अवस्था से आपके भीतर वीर्य को लेकर समस्याएं खड़ी हो सकती है और मर्दानगी पर बुरा असर पड़ेगा.

जांघों के पास

जो लोग फ़ोन को जांघों के पास दबाए रखते हैं उन्हें भी शायद इस प्रॉब्लम के बारे में पता नही है. ऐसा करने से आपके जोड़ो में दर्द और गठिया की शिकायत देखने को मिल सकती है. फ़ोन को हमेशा बैग में ही रखना चाहिए.

त्वचा से संपर्क

जो लोग लगातार कई घंटों तक फ़ोन पे लगे रहते हैं उन्हें पता नही होता कि आपकी त्वचा भी फ़ोन के संपर्क में है. फोन से निकलने वाले रेडिएशन से त्वचा पर बुरा असर पड़ता है इसलिए फ़ोन को अपने स्किन से 1 से 1.5 सेमी की दूरी पर रखें.

नमी से होता है नुकसान

फ़ोन के डब्बे पर भी लिखा होता है कि लहोने को ठंडी जगहों पर नही रखना चाहिए. क्योंकि अचानक टेम्परेचर बदलने से फ़ोन को नुकसान होता है. इसलिए सम तापमान पर लाने की कोशिश करें.

गर्म जगहों से भी नुकसान

ऐसा बिल्कुल नही है कि सिर्फ ठंडी जगहों से ही फोन को प्रॉब्लम है बल्कि अधिक तापमान होने से भी फ़ोन में काफी शिकायते मिल सकती हैं. कभी कभी तापमान के बढ़ जाने से ही मोबाइल ब्लास्ट हो जाते हैं.

ज्यादा समय चार्जिंग पर

कुछ लोग फ़ोन को जितना यूज नही करते उससे ज्यादा उसे चार्जिंग पर रखते हैं. इससे हमारे शरीर को कोई नुकसान नही है लेकिन आपके फ़ोन का अंत निकट है. क्योंकि इससे बैटरी की लाइफटाइम समाप्त हो जाती है और फ़ोन खराब भी हो जाएगा। यदि फ़ोन का बैटरी टिक नही पाता तो बैटरी चेंज कर दें लेकिन ज्यादा समय चार्जिंग पर ना रखें.

Source

You May Also Like