यदि शादी के दिन ही शुरू हो जाये पीरियड, तो करें बस इतना सा काम!

पीरियड की समस्या तो हर लड़की के साथ होती है और इसके प्रति वो जागरूक भी रहती हैं. एक ऐसी प्रक्रिया जो किशोरावस्था से ही शुरू हो जाता है और हर महीने आता है लेकिन लडकिया इसके प्रति सजग होती हैं और हमेशा उपाय ढूंढकर रखती हैं. लेकिन यदि बदकिस्मती से जिस दिन आपकी शादी हो उसी दिन पीरियड शुरू हो जाये तो क्या करेंगी आप? जरा सोचिए आपके कदम शादी के फेरे लेने की ओर बढ़ रही हो और अचानक पीरियड शुरू हो जाता है इस बात की कल्पना मात्र से आपका दिमाग हिल गया होगा लेकिन परेशान होने की जरूरत नही है हम बताने वाले हैं कुछ ऐसे उपाय जो शादी के दौरान पीरियड शुरू हो जाने पर काम आएंगे…

अगर शादी में ही होने मासिकधर्म

शादी रस्मो से भरा होता है दुल्हन को कई घंटों तक भूखे रहकर एक ही जगह पर बैठकर रस्म निभाने होते हैं. अगर ऐसे पलों में आपका मासिकधर्म शुरू हो जाता है तो इतने देर से भूखे रहने की पीड़ा के साथ मासिकधर्म की पीड़ा भी जान लेने के लिए काफी है. इससे बचने का उपाय जानना बहुत जरूरी है यदि आपकी शादी नही है तो कम से कम आपकी सहेलियों के काम आ जायेगा.

अपनाएं ये बेहतरीन उपाय

जब पीरियड की शिकायत होती है तो लड़कियां पैड का इस्तेमाल करती हैं जो 2-4 घंटे तक सही रह सकता है लेकिन शादी का रस्म कई घंटों तक चलता है. ऐसे में पैड लगाकर लड़कियां इतनी देर बैठ भी नही पाएगी. इस मुश्किल भरे पलों में टैम्पून आपके बहुत काम आने वाला है. इसकी मदद से आप समस्या को टाल सकती हैं लेकिन इसके बाद भी अगर प्रॉब्लम खत्म नही होती है तो एक साथ 2 पैड का इस्तेमाल करें. बाजारों में भी कुछ ऐसे पैड उपलब्ध हैं जो ज्यादा समय के लिए टिकाऊ होते हैं.

इस तरह साफ रखें कपड़े

जब शादी की बात है तो लड़कियां अपनी फ़ेवरेट ड्रेस पहनती हैं जिनमे महंगी और भारी लहंगे भी शामिल हैं. यदि ये कपड़े शादी के दौरान ही गंदे हो जाएं या दाग आ जाते हैं तो सबके सामने शर्मिंदा होना पड़ सकता है. इस प्रॉब्लम से बचने के आपको टैम्पून वाला तरीका जरूर आजमाना चाहिए.

हाई हील वाली सैंडल

पीरियड के दौरान कमर और पेट मे दर्द की शिकायत भी आती है. ऐसे क्षणों में अगर हाई हील वाला सैंडल पहनती हैं तो सभी दर्द से निजात मिल सकता है क्योंकि लेटने से ज्यादा सीधा खड़ा रहना मुश्किल होता है इसमें आपके हाई हील वाले सैंडल बहुत काम आएंगे. सिर्फ इतना ही नही बल्कि ऐसे मौके पर डॉक्टर से संपर्क कर या नजदीकी मेडिकल से पेनकिलर जरूर उपलब्ध करा लें.

एक छोटी बच्ची को रखें साथ

कुछ लड़कियों के साथ यह देखा गया है कि  पीरियड के दौरान वो वाशरूम जाने की आदि हो जाती हैं. यदि आप किसी रस्म के लिए या ऐसे कहीं बैठ जाएं तो सबके दमन उठकर जाना शोभा नही देता लेकिन यदि पास में कोई छोटी बच्ची बैठी हो तो उसके पेशाब जाने के बहाने से आप वाशरूम जा सकती हैं और किसी को पता भी नही चलेगा.

Source

You May Also Like