मोटापा घटाने के हैं और भी तरीके, होम्योपैथी ट्राई किया क्या?

आज कल हर 4 में एक व्यक्ति मोटापे का शिकार है, मोटापे के कई कारण हो सकते हैं. हार्मोन्स, थाइराइड, ख़राब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापा बढ़ने लगता है. और इस बढ़ते मोटापे को कम करने के लिए लोग जिम ज्वाइन करते हैं, डिएटिशियन का सहारा लेते हैं या फिर कई तरह की दवाइयां आज़माने लगते हैं. वैसे हम आपको बता दें की मोटापा कम करने की दवा होम्योपैथी में भी मौजूद हैं.

होम्योपैथी में ऐसी दवाइयां मौजूद हैं जिनसे बढ़ता मोटापा रोका जा सकता है या फिर मोटापे को कम किया जा सकता है. ऐसे जो भी व्यक्ति जिनका मोटापे के कारण पेट बहार निकल रहा हो, थुलथुला बदन हो,  ज्यादा पसीना आए विशेषकर सिर पर जिसमें खट्टी बदबू आती हो, ना पचने वाली चीजें जैसे मिट्टी, चूना, चौक व पेंसिल खाने का मन करे तो उन्हें कैलकेरिया कार्ब (30 पोटेंसी) दी जाती है।

वैसे ये दवा तो है लेकिन चलिए इसे एक तरफ कर देते हैं, लेकिन आप भी यह बात बहुत अच्छे से जानते होंगे कि शरीर में एक्स्ट्रा वज़न होना एक नहीं बहुत सी बिमारियों को दावत देता है जैसे हाई ब्लड प्रेशर और मधुमेह। फिर धीरे-धीरे यही बीमारियाँ ह्रदय रोग जैसी अन्य गंभीर बीमारयों को दावत देने लगती हैं. मोटापा कम करने के लिए आप डेली व्यायाम कीजिये, अर्ली मॉर्निंग वॉक पर जाइये, खाने पीने पर ध्यान दीजिये। ये ध्यान रखिये कि जो आप खा रहे हैं उसका आपकी सेहत पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

ज़्यादा से ज़्यादा पैदल चलने की आदत डालें, ऑफिस में काम करते हैं तो लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करिये। अपने खाने में अधिक से अधिक फाइबर युक्त चीज़ों का इस्तेमाल करिये। घर में खाना बनाते वक़्त रिफाइंड आयल का इस्तेमाल पूरी तरह बंद कर दीजिये। हो सके तो घर का खाना कच्ची घानी में बनाइये।

You May Also Like