OMG! प्रेग्नेंट होने के लिए इस मंदिर के फर्श पर सोती हैं औरतें, कईयों ने पायी माँ बनने की सौगात

एक औरत की जिंदगी मातृत्व सुख एक वरदान की तरह होता है क्योंकि हर स्त्री की कामना होती है कि एक दिन उसका भी संतान हो। लेकिन दुर्गर्भाग्य से कुछ स्त्रियों को माँ बनने का सुख नही मिल पाता और समाज भी उसे दुत्कारना शुरू कर देती है। आप भी इस सच्चाई से अच्छी तरह वाकिफ होंगे कि जब कोई स्त्री शादी के बाद माँ नही बन पाती तो उसका जीना दूभर हो जाता है एक तरफ परिवार वालो की तीखी बोली और दूसरी तरफ ‛बाँझ’ करार देने वाला समाज। ऐसी हालत में यदि स्त्रियों को माँ बनने का कोई भी उपाय सुझाया जाए तो उसे एक बार जरूर आजमाती है।

आज हम एक ऐसे ही उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जो काफी चर्चे में है। पुराने जमाने के लोग इसके लिए टोने-टोटके करवाती थी और मन्नत मांगने का प्रचलन तो सदियों से चला आ रहा है। हमारे प्राचीन ग्रंथ ही इस बात का गवाह है कि भगवान ने स्त्री को माता का सुख देने के लिए कई लीलाएं रची है। आज एक ऐसी ही लीला की खबर बड़ी तेजी से फैल रही है जिसमे एक मंदिर की बात कही गयी है। ऐसा माना जाता है कि जो भी औरत उस मंदिर के फर्श पर सो जाएं उसे संतान प्राप्ति होती है। चलिये जानते हैं उस मंदिर के बारे में और क्या है उसकी सच्चाई…

फर्श पर सोने से हो जाती हैं प्रेग्नेंट

दरअसल आज एक ऐसे मंदिर का नाम सामने आ रहा है जिसकी महिमा ने विज्ञान की सभी बातों को झूठा साबित कर दिखाया है। यहां के लोगो की मान्यता है कि जो भी बाँझ स्त्री इस मंदिर का चौखट पूजन करके इसके फर्श पर सोती है वो जल्द ही माँ बन जाती है। ये बात जानकर आपका भी मन नही मान रहा होगा कि भला ये कैसे संभव है और ऐसा मंदिर तो हमने कभी नही देखा। तो आपको बताते हैं उस मंदिर का पता जो हिमाचल की धरती पर है जिसे “सिमसा माता का मंदिर” के नाम से जाना जाता है।

कई स्त्रियां बन चुकी माँ

इस मंदिर का रहस्य जो भी हो पर अभी तक यही खबर सामने आई है जिन स्त्रियों ने भी इस मंदिर के फर्श पर सोया है उन्हें संतान की प्राप्ति हुई है। कुछ लोग इसे अन्धविश्ववास का नाम देंगे पर वहां के पुजारियों ने भी यह बात कबूली है। ये मंदिर स्त्रियों के सुनी गोद को भर देती है इसीलिए इसका नाम “संतान दात्री मंदिर” भी बताया जाता है। इस योग के लिए खास दिन निर्धारित किये गए हैं जिसके अनुसार नवरात्रि के समय यहां संतान की चाह रखने वाली स्त्रियों का तांता लगा रहता है।

इस पूरे नवरात्रि में स्त्रियां माता सिमसा का पूजन कर इसी मंदिर के फर्श पर सो जाती है जिससे उन्हें संतान प्राप्ति हो। इन स्त्रियों की संख्या सैंकड़ो से भी अधिक होती है और ज्यादातर वैसी स्त्रियां होती है जिनके शादी के काफी साल बीत गए पर आज तक माँ नही बनी हो। वैसे तो इस मंदिर से जुड़ी कई बातें हैं लेकिन खास वीडियो की मदद से हम उस मंदिर का राज बताने जा रहे हैं इसलिए देखें यह वीडियो

Source

You May Also Like