अब सड़क पर बिना ड्राईवर के दौड़ेंगी गाड़ियाँ, स्पीड इतनी कि आप भी सन्न रह जाएंगे

आज यह दुनिया जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे टेक्नोलॉजी का विस्तार भी होता जा रहा है। टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में तेजी से होने वाले विस्तार की वजह से आए दिन हमें नई नई टेक्नोलॉजी से जुड़ी खबरों के बारे में सुनने को मिलता रहता है। आज इन दिनों टेक्नोलॉजी के विस्तार से जुड़ी एक ऐसे ही खबर सुनने को मिल रही है। इस खबर के मुताबिक ऐसा बताया जा रहा है कि आने वाले वक्त में ऑस्ट्रेलिया का पर्थ दुनिया का पहला ऐसा शहर बनने वाला है जहां ड्राइवरलेस कार 90 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी। तो चलिए बताते हैं आपको इस खबर के बारे में विस्तार से-

खबरों के मुताबिक बुधवार के दिन चालक रहित कार कंपनी के द्वारा प्रोटोटाइप वाहन के अनावरण के साथ-साथ ऑन डिमांड कारों का परीक्षण भी किया जाएगा। वाहन बनाने वाली कंपनी एनएवीवाईए के द्वारा निर्मित की गई ड्राइवरलेस कार शैपरोन से लैस होगी। जिसकी मदद से जरूरत पड़ने पर ड्राइवरलेस कारों को मैनुअली तरीके से रोका भी जा सकेगा। ऐसा बताया जा रहा है कि इस ड्राइवरलेस वाहन में एक बार 6 लोगों को लाने ले जाने की क्षमता होगी। इसके साथ ही साथ इस कार की अधिकतम रफ्तार 90 किलोमीटर प्रति घंटा की होगी। परंतु अभी टेस्टिंग के दौरान इस कार्य को 50 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम रफ्तार पर ही चलाया जाएगा।

न्यूज़ एजेंसी सिन्हुआ की माने तो वर्ष 2019 तक ड्राइवरलेस कारों के परीक्षण को पूरा हो जाने के बाद उपयोगकर्ता फोन ऐप के जरिए इस कार को अपने गंतव्य तक जाने के लिए मंगवा सकेंगे। इस कार की सभी प्रक्रिया सामान्य टैक्सी कारों की तरह ही होगी। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ड्राइवरलेस कारों की परीक्षण के लिए रॉयल ऑटोमेटिक क्लब ऑस्ट्रेलिया कार बनाने वाली कंपनी को परीक्षण के लिए सुविधा मुहैया करवा रहा है। रॉयल ऑटोमेटिक क्लब के अधिकारी टेरी एजन्यू की माने तो इस परीक्षण के बाद ऑस्ट्रेलिया का पर्थ दुनिया के उन 3 शहरों की लिस्ट में शामिल हो जाएगा जहां ड्राइवरलेस कारों का परीक्षण सबसे पहले किया गया हो।

Source

You May Also Like