42 की दुल्हनिया को भगा ले गए 68 के एड, शादी का खर्च सिर्फ 350 रूपए

हम सबने अक्सर लोगो को कहते सुना होगा की जोड़ियां ऊपर से बन कर आती हैं, ऐसे में हम खुद से से चाहे जितना भी हाथ पैर मार लें कोई भी रिश्ता नहीं निभ सकता जबतक ऊपर वाला नहीं चाहेगा। भगवान कही न कही किसी न किसी मोड़ पर हमे हमारे जीवनसाथी से मिला ही देता है, हमे जिस भी इंसान से प्यार हो जाता है फिर हम उसका रंग रूप या उम्र नहीं देखते हैं। सच्चा प्यार किसी बंधन में बांध कर नहीं रहता। ऐसी ही एक कहानी के बारे में हम बात करने जा रहे हैं। यहाँ बात हो रही है अप्रतिम और एड की। इन दोनों की कहानी किसी बॉलीवुड फिल्म से कम नहीं है।

अप्रतिम की उम्र 42 साल है और वह पेशे डॉक्टर और बिज़नेस वीमेन हैं जिनको प्यार हुआ अपनी उम्र से अलगभग  68 साल बड़े एड से। अप्रतिम अपनी पर्सनल ज़िन्दगी से खासी खुश थी, एड एक तलाक शुदा थे और उनकी 3 सायानी बेटियां भी थी। जब दोनों ने आपस में शादी करने का फैसला लिया तो अप्रतिम के घर वालों को बहुत बुरा लगा और बोले “क्या तुम्हे शादी करने के लिए अपने से 26 साल बड़ा इंसान ही मिला वो 3 बड़ी लड़कियों का पिता और तलाक शुदा?”

अप्रतिम के लिए एड का नेचर बहुत ज़ादा माईने रखता था। दोनों की मुलाकात किसी संयोग से कम नहीं है। हुआ कुछ यूँ के एड किसी काम से अफ्रीका जा रहे थे और उनकी फ्लाइट किसी कारणवश लेट हो गयी। वही उनकी मुलाकात अप्रतिम से हुई, दोनों में बातचीत होने लगी और एड ने बातों ही बातों में अप्रतिम से डिनर के लिए पूछ लिया। अप्रतिम एड के अच्छे नेचर की वजह से उन्हें मना नहीं कर पायीं। फिर अगले दिन एड अफ्रीका के लिए निकल गए।

दोनों एक दुसरे के कांटेक्ट में बने रहे, एड अप्रतिम से उनकी दिनचर्या और उनके खाने पिने के बारे में हमेशा पूछा करते थे, अप्रतिम को एड का ये करिंग नेचर बहुत अच्छा लगा। कुछ वक़्त तक तो सब ऐसे ही चलता रहा और एक दिन एड ने अप्रतिम को प्रपोज़ कर दिया। अप्रतिम मन नहीं कर पायीं और शादी के लिए हाँ कर दी।

अप्रतिम हमेशा से चाहती थीं की उनकी शादी बहुत ही सादगी भरी हो, बिना शोर शराबे के हो। दोनों ने कोर्ट मैरिज करने का फैसला किया, यहाँ तक की अप्रतिम ने अपनी रिंग भी रकोर्ट जाते वक़्त रस्ते से 100 रूपए में खरीदी थी, कोर्ट की फ़ीस में सिर्फ 250 रूपए खर्च हुए। ऐसे ही दोनों का ब्याह 350 रूपए में हो गया। फ़िलहाल दोनों एक दूसरे के साथ सुखी जीवन जी रहे हैं। अप्रतिम को ख़ुश देख उनके परिवारों वालों ने भी एड को अपना लिया।

You May Also Like