इस भारतीय लड़की ने रचाया पाकिस्तानी लड़के से ब्याह, दोनों देशों का इनके प्यार को सलाम!

जब से भारत और पाकिस्तान को अलग देश बने हैं तभी से दोनों देशों की दुश्मनी दिनों दिन घातक रूप धारण करती जा रही है.  भारत और पाकिस्तान के बीच आए दिन कोई ना कोई तनाव बना रहता है.  भारत में कई बार पाकिस्तान से आने वाले घुसपैठ भी पकड़े जाते रहे हैं.  पाकिस्तान और भारत की इस कट्टर बंदी के बावजूद भी आज हम आपको दो ऐसे लोगों से मिलवाने जा रहे हैं,  जो इन दो दुश्मन देशों के बीच प्रेम की एक मिसाल कायम कर चुके हैं.  दरअसल आज हम बात करें कुलभूषण यादव और उनकी पत्नी की.  अभी हाल ही में कुलभूषण यादव की उनकी मां और पत्नी से मुलाकात काफी अमानवीय रही जिसके कारण दोनों बीच सियासत गर्म चलती रही.  इसके बावजूद भी भारत और पाकिस्तान की इस दीवार के पीछे दो लोगों का प्यार परवान चढ़ रहा था और आखिरकार दोनों ने अपने इस प्यार को शादी का नाम दे डाला.
दरअसल, आज हम बात करने जा रहे हैं भारत के बेटे आलीशान और पाकिस्तान की बेटी हफ्सा की.  आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के गृह नगर बरेली रहने वाला आलीशान बीती 25 दिसंबर को अपनी नई नवेली दुल्हन हम साथ के साथ भारत पहुंचा.  जिसके बाद उनका स्वागत काफी गर्मजोशी से किया गया.  दरअसल हादसा और अलीशान की कहानी एक सच्चे प्यार प्रेम कहानी है जो कि पहले दोस्ती और फिर प्यार बन गई.  दरअसल यह बात 2 साल पुरानी है जब अलीशान अपने मामा के बेटे से मिलने लाहौर रवाना हुए थे वहीं उनकी मुलाकात हफ्ता से हो गई जो धीरे-धीरे दोस्ती में बदल गई और फिर  दोनों जन अपना दिल एक दूसरे को दे बैठे.
अपनी दोस्ती को प्यार में बदलने के बाद अलीशान और अफ़साने शादी के लिए अपने अपने घर वालों से बात की और वह जल्द ही राजी भी हो गए.  इसके बाद पिछले से दिसंबर को अलीशान बारात लेकर वाघा बॉर्डर पर पहुंच गए और सुरक्षा जांच के बाद पाकिस्तानी बॉर्डर में प्रवेश कर दे.  बॉर्डर के उस पार हद शासक के पिता सुहेल भी बरातियों की मेजबानी के लिए तैयार खड़े थे.  बॉर्डर क्रॉस करने के बाद दोनों के परिवार वालों ने एक दूसरे को फूल की मालाएं पहना ली और फिर सब मैरिज हाल चले गए.  पाकिस्तान में ही दोनों का निकाह पूरे रीति रिवाजों से संपन्न किया गया जिसके बाद 14 दिसंबर को वह हादसा के साथ वापस भारत आ गए और 25 को अपने शहर बरेली पहुंच गए.
आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हम जा पाकिस्तान के लाहौर के चौहान रोड शानदार की रहने वाली हैं.  एक रिपोर्ट के अनुसार 22 वर्षीय अफ़साने पाकिस्तान के कॉलेज से ही बीए की पढ़ाई पूरी की है.  जब की आलीशान बीकॉम कर चुके हैं और साथ ही अपना जिम भी चलाते हैं.  भारत की बहू बनकर हादसा ने बताया कि उन्हें भारत और पाकिस्तान में कोई फर्क महसूस नहीं हुआ बल्कि उन्होंने पाकिस्तान से कहीं बेहतर भारत को पाया.  हमजा ने कहा कि उसको अपने मायके छोड़ने का इतना दुख नहीं हुआ क्योंकि वह भारत में घूमने के लिए काफी उत्साहित थी.
 अभी हाल ही में बरेली पहुंचे हफसा और अली शान अपनी शादी की रिसेप्शन को लेकर तैयारियां करने में जुटे हुए हैं.  हमजा ने मीडिया को बताया कि उसके परिवार के लगभग 42 लोग इस रिसेप्शन का हिस्सा बनने के लिए अपना वीजा अप्लाई कर रहे हैं.  आपकी जानकारी के लिए बता दे कि फिलहाल हफ्ता को 30 दिन का भारतीय वीजा मिला है और जल्द ही वह भारत की नागरिकता पाने के लिए अप्लाई करेंगी.

You May Also Like